Coronavirus in India: कोरोना वायरस महामारी समय के साथ देशभर में गम्भीर रूप लेती जा रही है। भारत में कोरोना वायरस के मामले 35 लाख के ऊपर पहुंच चुके हैं। वहीं दूसरी तरफ ऐसी अटकलें लगायी जा रही हैं कि साल 2021 में भी कुछ समय तक कोरोना वायरस का प्रभाव रहेगा। लेकिनसरल इलेक्ट्रॉनिक खेल, इन सबके बीच डॉ. हर्षवर्धन ने बयान दिया है कि दिवाली के त्योहार तक देश में कोरोना वायरस का प्रभाव कम हो जाएगा। (Coronavirus in India) Also Read - स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहासरल इलेक्ट्रॉनिक खेल, कोविड रोगियों के लिए मेडिकल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं

क्या दिवाली तक कंट्रोल हो जाएगी कोरोना महामारी ?

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है किसरल इलेक्ट्रॉनिक खेल, ऐसी उम्मीद की जा सकती है कि दिवाली के त्योहार (अक्टूबर 2020 के अंत तक) देश में कोविड-19 संक्रमण के मामले काफी हद तक कंट्रोल में आ जाए। बता दें किसरल इलेक्ट्रॉनिक खेल, डॉ. हर्षवर्धन बेंगलुरु में एक वेबिनार में बोल रहे थे जिसका आयोजन अनंत कुमार फाउंडेशन किया था। ‘नेशन फर्स्ट’ थीम वाले इस  वेबिनार में स्वास्थ्य मंत्री ने कहासरल इलेक्ट्रॉनिक खेल, “दिवाली तक महामारी को प्रभावी ढंग से कंट्रोल कर लिया जाएगा। सारे लोग इस महामारी का सामना करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। (Effect of Coronavirus in India) Also Read - Covid-19 Live Updates: भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या हुई 49, इलेक्ट्रॉनिक टेनिस खेल30,236, अब तक 80,776 लोगों की मौत

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस वैक्सीन के 2 दावेदार हैं। जिनपर फिलहाल काम चल रहा है। अपने संबोधन में डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि, देश में कोविड-19 वैक्सीन पर काम काफी तेज़ गति से चल रहा है। अब तक 3 क्लिनिकल ट्रायल्स हो चुके हैं। जबकि, 4 प्री-क्लिनिकल ट्रायल्स पर भी काम चल रहा है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहां कि हमें उम्मीद है कि साल 2020 के अंत तक कोविड वैक्सीन तैयार हो जाएगी। Also Read - केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा,सरल इलेक्ट्रॉनिक खेल कोरोनावायरस से लड़ाई अभी जारी रहेगी

देश में रोज़ बन रहे हैं पीपीई किट

इस वेबिनार के दौरान डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि देश में हर दिन 5 लाख से ज्यादा पीपीई किट का उत्पादन किया जा रहा है। साथ ही, लगभग 10 लाख  एन95 (N95) मास्क का उत्पादन भी दैनिक स्तर पर हो रहा है। जबकि 25 प्रोड्यूसर वेंटिलेटर बनाने का काम कर रहे हैं।

स्किन प्रॉब्लम्स हैं कोरोना वायरस के नये लक्षण, बरसात में बढ़ सकती हैं ये समस्याएं, ऐसे करें बचाव

दोपहर में एक घंटे से ज़्यादा सोना हो सकता है जानलेवा, बढ़ सकती हैं दिल की बीमारियां, रिसर्च में खुलासा

Night Terror in Kids: क्या आपका बच्चा नींद में अचानक रोने और कांपने लगता है? नाइट टेरर हो सकती है इसकी वजह, जानें क्या है यह बीमारी

स्लीप पैरालाइसिस क्या है, कैसे करें इससे बचाव

वेट लॉस के लिए नाश्ते में खाएं हेल्दी ओट्स, जानें ओट्स के अन्य फायदे और एक हेल्दी रेसिपी

Published : August 31, 2020 6:18 pm | Updated:August 31, 2020 6:49 pm Read Disclaimer Comments - Join the Discussion हार्ट की बीमारियों से ग्रस्त कोविड-19 मरीजों में मृत्यु दर ज्यादाहार्ट की बीमारियों से ग्रस्त कोविड-19 मरीजों में मृत्यु दर ज्यादा हार्ट की बीमारियों से ग्रस्त कोविड-19 मरीजों में मृत्यु दर ज्यादा भारत की पहली महिला कार्डियोलॉजिस्ट का कोरोना के कारण निधन, दिखे थे सांस न ले पाने और बुखार जैसे लक्षणभारत की पहली महिला कार्डियोलॉजिस्ट का कोरोना के कारण निधन, दिखे थे सांस न ले पाने और बुखार जैसे लक्षण भारत की पहली महिला कार्डियोलॉजिस्ट का कोरोना के कारण निधन, दिखे थे सांस न ले पाने और बुखार जैसे लक्षण ,,

上一篇:सरल इलेक्ट्रॉनिक खेल गठिया की दवा क्या कोरोना के इलाज में आ सकेगी काम? TheHealthSite Hind    下一篇:सरल इलेक्ट्रॉनिक खेल Coronavirus Treatment in Hindi: कोरोना मरीजों के इलाज में जगी नई उम्मीद, पॉज    

Powered by सोनी पोर्टेबल गेमिंग @2018 RSS地图 html地图